Menu

भारतीय पशुधन उदयोग प्रदर्शनी
१६-२ दिसंबर, २०१५


पशुधन और खेती का रिश्ता अटूट है | भारत में करीबन ६०% से ज्यादा कृषक, 
खेती के साथ साथ पशुधन से जुड़े उद्योग करते हैं | खेती के चंचल और अस्थिर स्थिती में
पशुधन से जुड़े अनेक व्यवसाय, कृषको के लिए हमेशा फायदेमंद और लाभदायी नजर 
आते हैं | कृषि उद्योग में बढ़ती मांग और उपलब्धियों के कारण, पशुधन उद्योग क्षेत्र, अब 
आसमान की उंचाइयां छु रहा है |

गत बीस सालों से, किसान प्रदर्शनी से आप जुड़े हैं, यह हमारे लिये गर्व और प्रसन्नता की बात
हैं | आपके अनमोल सुझाव से प्रेरीत होकर, पशुधन प्रदर्शनी की परिकल्पना कि गयी है|
पशुधन उद्योग से जुड़ी, आधुनिक तंत्रज्ञान एवं महत्वपुर्ण संकल्पनाए प्रदान करने का प्रयास,
पशुधन प्रदर्शनी द्वारा किया जा रहा हैं | कृषक, उद्योजक, वैज्ञानिक एवं तंत्रज्ञो के लिए
व्यासपीठ उपलब्ध कराना तथा ज्ञान और तकनीक का आदान-प्रदान करने के उदात्त हेतु से,
पशुधन प्रदर्शनी का आयोजन किया गया हैं |

अपने उद्योग में उत्कर्ष और सफलाता के लिये भारतीय पशुउद्योग प्रदर्शनी में अपने मित्र और
साथीयों के साथ पधारने के लिए, स्नेहभरा निमंत्रण |